खोजें

Wednesday, February 20, 2013

वसंत त्योहार में पर्यावरण संरक्षण पर ध्यान दिया चीनी लोगों ने - china radio international

वसंत त्योहार में पर्यावरण संरक्षण पर ध्यान दिया चीनी लोगों ने
2013-02-18 18:11:59

पेइचिंग के कोहरे में ज़हरीले तत्वों की मौजूदगी का पता चला है। हाल के दिनों में चीनी विज्ञान अकादमी ने इसकी पुष्टि की। यह एक खतरनाक संकेत माना जा रहा है। कोहरा ज़्यादा घना होने के कारण चीनी जनता ने पर्यावरण संरक्षण पर ज्यादा ध्यान दिया, खासकर वसंत त्योहार के दौरान।
चीनी विज्ञान अकादमी ने हाल में कोहरे संबंधी अध्ययन के नतीजे जारी किए। पेइचिंग, थ्येनचिन और हबेइ प्रांत में कोहरे का अध्ययन करने के बाद पता चला कि उक्त क्षेत्रों के कोहरे में नाइट्रोजन के कार्बनिक कण मौजूद हैं। चीनी राष्ट्रीय जलवायु केंद्र के अनुसंधानकर्ता जांग टोंग ने संवाददाता के साथ साक्षात्कार में कहा कि नाइट्रोजन कार्बनिक कणों से अत्यधिक ज़हरीला कोहरा जमा हो सकता है, जिससे लोगों के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है। कोहरे में जो नाइट्रोजन के कार्बनिक कण मौजूद हैं, वे सूर्य की रोशनी या प्रकाश से मिलने के बाद रासायनिक प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं, और इससे रासायनिक कोहरा पैदा होता है। ऐसा कोहरा ज़हरीली हवा जैसा है। लोगों को सीधे नुकसान पहुंच सकता है, इस वजह से किसी व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। बताया जाता है कि नाइट्रोजन कार्बनिक कणों से पैदा हुआ रासायनिक कोहरा एक खतरनाक संकेत है। यहां बता दें कि गत् 40 और 50 के दशक में अमेरिका के लॉस एंजिल्स में रासायनिक कोहरा के चलते में 8 सौ से अधिक लोगों की मौत हुई थी। अमेरिकी सरकार की जांच के मुताबिक ज़हरीला रासायनिक कोहरा इस दुर्घटना का कारण है। इस साल वसंत त्योहार के दौरान कोहरे से परेशान चीनी जनता ने पहले की तुलना में कम आतिशबाजी की। उन्हें उम्मीद है कि इस कदम से पर्यावरण में सुधार आएगा। सुश्री जांग पेइचिंग में पटाखे बेचने का काम करती हैं। उन्होंने संवाददाता से कहा कि इस साल वंसत त्योहार के दौरान पटाखे खरीदने वालों की संख्या कम है। पिछले कई साल की तुलना में इस साल पटाखों की बिक्री अच्छी नहीं है। मैंने सिर्फ 80 से 90 हज़ार युआन के पटाखे बेचे। अब तक लागत भी नहीं निकल पाई है। इस बिज़नेस में शामिल होने, डिपॉज़िट और पटाखे खरीदने के लिए मैंने ज्यादा खर्च किया। इस हिसाब से इस साल मुनाफा नहीं होने वाला है। देखते हैं कि लालटेन महोत्सव के दौरान बिक्री कैसी होती है। मौसम इतना ठंडा है और मुनाफा भी नहीं है। अगले साल मैं यह काम नहीं करूंगी। आंकड़ों के अनुसार इस साल वंसत त्योहार के दौरान पटाखों की ब्रिक्री 40 प्रतिशत कम हुई। लोगों ने कम पटाखे जलाए। इस बारे में पेइचिंग के सफाई कर्मचारी ह्वांग को इस बात का गहरा अहसास है। उन्होंने कहा कि वंसत त्योहार के दौरान सड़कों की सफाई करना एक मुश्किल काम होता था, क्योंकि आतिशबाज़ी से अधिक कचरा पैदा होता है। लेकिन इस साल तस्वीर कुछ अलग है। सड़क की सफाई करना आसान हो गया है। इस साल कचरा कम है, पिछले साल अधिक था। और इस साल 50 फीसदी कम हो गया। पिछले चीनी नव वर्ष के पहले दिन पटाखे जलाने से पैदा हुए कचरे से तीन वाहन भरे थे, इस साल सिर्फ एक। पिछले कई सालों में सफाई के काम में पूरा दिन लगता था, लेकिन इस साल काम तीन घंटों में खत्म हो गया। आतिशबाज़ी से पर्यावरण पर बुरा असर पड़ा है। इससे बचने के लिए चीन के कई शहरों में आतिशबाज़ी का रात्रि समारोह भी रद्द किया गया। इसके बावजूद वसंत त्योहार के दौरान पीएम 2.5 वायु पर्यावरण का मुख्य कारक रहा। पर्यावरण संरक्षण विभाग का कहना है कि इस दौरान चीन के कई शहरों में वायु की गुणवत्ता खराब रही। 74 शहरों में पीएम 2.5 इन्डेक्स मापदंड से 40 प्रतिशत अधिक रहा । सबसे गंभीर शहरों में पीएम 2.5 इन्डेक्स मापदंड के 4.7 गुना पहुंचा। ऐसे में चीन के सामने पीएम 2.5 स्तर सुधारने का रास्ता अभी लंबा है।